बड़ी खबर:नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने एयर इंडिया एक्सप्रेस से मांगी रिपोर्ट,25 कर्मचारी हुए निष्कासित 78 उड़ने हुई रद्द

WhatsApp Group Join Now

Air India एक्सप्रेस एयरलाइंस ने अपने कर्मचारियों पर कड़े रुख अपनाए है,यह कड़ी कार्यवाही एक साथ सामूहिक रूप से छूटी में जाने के कारण यह कड़े रुख अपनाए गए है,जिसमे 25 कर्मचारियों को निष्कासित कर दिया गया है,एयर लाइंस से जुड़े सूत्रों का कहना है,की जिन भी कर्मचारियों को निष्कासित किया गया है,वह ड्यूटी में नही पहुंचे थे,साथ ही उनका व्यवहार भी ठीक नहीं था और एक साथ समूह में छुट्टी में जाने के कारण एयरलाइंस को कई एयर इंडिया एक्सप्रेस की उड़ने रद्द करनी पड़ी थी,जिससे काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा,कर्मचारियों के बीच तनाव के कारण कंपनी को देर से बयान जारी किया गया है।

 

कर्मचारियों ने ली सामूहिक रूप से छुट्टी कुप्रबंधक का आरोप

 

टाटा समूह की स्वामित्व वाली कंपनी एयर इंडिया एक्सप्रेस के केबिन क्रू के कथित क्रूप्रबंधक के विरोध में कर्मचारियों ने बुधवार को सामूहिक छुट्टी ले ली थी,जिसमे 200 से अधिक कर्मचारियों का एक साथ छुट्टी में चले जाने के कारण कंपनी के परिचालन में काफी गंभीर प्रभाव पड़ा,जिसमे 100 से अधिक फ्लाइट को कम्पनी के द्वारा रद्द करना पड़ा,मीडिया रिपोर्ट के जानकारी के अनुसार लगभग मगलवार को सभी एयर इंडिया का परिचालन ठप हो देखने को मिला,जिससे लगभग 15 हजार यात्री प्रभावित हुए,सबसे ज्यादा एयर इंडिया खड़ी के देशों में परिचन करती है।

 

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने बड़ी संख्या में उड़ानों के रद्द और यात्रियों के परेशानियों के देखने हुए एयर इंडिया एक्सप्रेस से बुधवार को रिपोर्ट मांगी है,साथ ही एयर लाइंस को कर्मचारी से जुड़े मुद्दे के मामले को तत्काल हल करने को कहा है,दिल्ली हवाई अड्डे में शाम 4 बजे बुधवार को 14 उड़ने रद्द हुई।